Follow Us
  • SIGN UP
  • tumbhi microsites
tumbhi microsites

Writing Writing

मुझको यकीन करना ना आया

         आंसू मे तेरी, बिखर भी ना पाया_____2

जाके भी दूर सवंर हम ना पाऐ

लौटे मगर हम तुझको ना पाया !

 ".       ".     ".      ".        ".   ".   !

खोया है ऐसा मुसाफिर , मै नही माफी के काबिल______2

                 मै नही माफी के  काबिल

 

हर इक लम्हा  मुझसे हिसाब पूछता है

  राहो मे किसके तू अब निशान ढूढता है !

आया ना जब उसको थी जरूरत तेरी

   दुआओ मै क्यू अब उसका हाल पूछता है  !

     ".        ".   ".    ".       ".        ".      ".     ".  !

वैसे का वैसा दर्द है  बाकी 

              मांगी ना जाऐ जुल्मो की माफी 

               ".      ".    ".      ".      ".     ".  !

 

मुझको यकीन करना ना आया

       आंसू मे तेरी, बिखर भी ना पाया___

जाके भी दूर सवंर हम ना पाऐ

   लौटे मगर हम तुझको ना पाया !

    ".      ".      ".      ".       ".   ".   !

खोया है ऐसा मुसाफिर , मै नही माफी के काबिल_____2

                    मै नही माफी के काबिल_____2

 

Mujko Yakeen

Lyrics 1

Explore →
Tumbhi blog

Why should you..

Why should you bring some ART home?

read blog
tumbhi advisors

L C Singh

Member, Film Writers Association, Mumbai Playwright and Author - feature film..
advisors
USERSPEAK
No Image

shikha

raato ko ansu! sanjoti hu mai,subah unki mala! piroti hu mai ,sajati hu fir apni tanhai ko ,

more testimonials
GO